Friday, August 15, 2008

स्‍वाधीनता दिवस

बच्चों आज के शुभ दिन पर मै पहली बार बाल उद्यान में अपके सम्मुख अपनी बात रख रहा हूँ। देखो कितना अच्छा दिन है आज, आज के ही दिन को पाने के लिये हमारे देश के वीर सपूतों ने अपने प्राणों को बलिदान कर दिया। आज से करीब 61 वर्ष पूर्व स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के कुशल नेतृत्व में हमने अपने देश से अंग्रेजो का भगा दिया। 


कितना अच्छा शब्द लगता है स्वतंत्रता या स्वाधीनता। आज इसी स्वाधीनता के कारण हम आजाद भारत में जी रहे है। आजादी का मतलब होता है किसी के नियंत्रण में न रहना, अपनी सरकार, अपनी राजव्यवस्था तथा अपने देश में कहीं भी आने जाने के स्वंतत्रता। 15 अगस्त 1947 से पहले ऐसा नही था, हमारे उपर अंग्रेज राज करते है, बापू के जन्म दिवस के बजाय, अंग्रेजो की महारानी का जन्म दिवस मनाया जाता था। 

स्‍वाधीनता का उल्टा होता है पराधीनता, हमारे देश में कहा जाता है कि पराधीन सपनेहु सुख नही अर्थात पराधीन होने पर सपने में भी सुख नही मिलता है। आज हम देश की आजादी की 61वीं वर्षगाठ मना रहे है। इन 61 सालों में हम अपने महापुरूषों के आदर्शो को भुलाते आये, हमें ऐसा नही करना चाहिये। जो व्यक्ति अपने महापुरूषो और संस्कृति को भूल जाता है उसका कहीं सम्मान नही होता है। 

बच्चों एक बात याद रखों कि आजादी ही जीवन का सबसे बड़ा सुख है, अब हम इसे गवायेगे नही। हम प्राण करेंगे कि आजादी के लिये हम अपना तन-मन-धन सब अर्पण कर देगे। 

आप सभी को स्वाधीनता दिवस की बहुत बहुत बधाई। 


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

5 पाठकों का कहना है :

सुनीता शानू का कहना है कि -

सारे बाल-युग्म परिवार को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाऐं.
जय-हिन्द!

Udan Tashtari का कहना है कि -

स्वतंत्रता दिवस की बहुत बधाई एवं शुभकामनाऐं.

सजीव सारथी का कहना है कि -

बधाई प्रस्तुति प्रेमेन्द्र भाई, बहुत दिनों बाद आपको युग्म पर देखकर अच्छा लगा

रंजना [रंजू भाटिया] का कहना है कि -

स्वतंत्रता दिवस और राखी की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाऐं.

रंजना [रंजू भाटिया] का कहना है कि -

स्वतंत्रता दिवस और राखी की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाऐं.

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)