Monday, September 29, 2008

बूझो तो जाने

आज हम कुछ पहेलियाँ पूछेंगे, सही उत्तर अगले दिन बताएँगे तब तक दिमाग के घोड़े दौडाओ, सही उत्तर देने वाले सबसे पहले बच्चे को हम पुरस्कार भी देंगे, मगर १२ साल से अधिक उम्र के प्रतिभागियों के लिए कोई पुरस्कार तय नहीं किया गया है| अलबत्ता भाग तो कोई भी ले सकता है, आशा करते हैं कि आप सभी को हमारी पहेलियाँ पसंद आएँगी, पाठकों के सुझाव भी सदैव आमंत्रित हैं |
१) कही पहेली बीरबल,
अकबर को दियो सुनाय
पक्के रहत बहुत दिन,
बिन पक्के गल जाय

२) तारों के संग आता है,
तारों के संग जाता है,
बुद्धि जिसकी दुर्बल हो,
इसकी पदवी पाता है |

३) दुबली-पतली गुण से भरी,
सिर को चले झुकाय,
आवे जब वो हाथ में,
दो को एक मिलाय |

४) तीन अक्षर का मेरा शब्द,
बूझो तो हो सब स्तब्ध|

५) तीन अक्षर का मेरा नाम,
जल में रहता मेरा धाम,
मेरा आंसू झूठ कहाए ,
जल में बैर नहीं कर पाये

--नीलम मिश्रा


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

2 पाठकों का कहना है :

रंजन का कहना है कि -

१. घड़ा
२. उल्लु
३. गोंद की शीशी
४. ?
५. मेढ़्क

neelam का कहना है कि -

रंजन जी ,
आपका प्रयास अच्छा लगा ,प्रथम दो पहेलियों के उत्तर तो ठीक हैं ,
किंतु बाकी के तीन जबाब सही नही हैं ,हम सोच रहे हैं ,कुछ और लोग भी प्रयास करें ,उसके पश्चात् ही सही उत्तर बताएं जाएँ |

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)