Wednesday, November 21, 2007

भोला बचपन: आओ मिलकर खेलें खेल







- सीमा कुमार


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

9 पाठकों का कहना है :

रचना सागर का कहना है कि -

सीमा जी,

बहुत अच्छी तसवीरें है

राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि -

सीमा जी,

सभी तस्वीरें अच्छी हैं।

*** राजीव रंजन प्रसाद

रंजू का कहना है कि -

अच्छी तसवीरें हैसीमा जी...!!

Bhupendra Raghav का कहना है कि -
This comment has been removed by the author.
Bhupendra Raghav का कहना है कि -

तस्वीर ये बच्चों की,मन को अति भाती हैं
जो बीत गया बचपन की याद दिलातीं है..
तस्वीर ये बच्चों की..
क्या खूब है ये बचपन बस मगन स्वमं खुद में
खेलों का चक्रव्यूह नही कोई सुध-बुध में
बस अल्लड़ मस्त पवन जैसे इतराती हैं ..
तस्वीर ये बच्चों की..

सीमा जी बचपन मे ले जाने के लिये आपका बहुत बहुत धन्यवाद..

सजीव सारथी का कहना है कि -

खिलते हुए फूल , हँसते हुए बच्चे,
झूठों की दुनिया, लगते यही बस सच्चे

tanha kavi का कहना है कि -

सीमा जी,
बड़ी हीं खूबसूरत तस्वीरें हैं।

-विश्व दीपक 'तन्हा'

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

उम्दा चित्र

sahil का कहना है कि -

seema ji bahut hi pyari taswirein hain.
alok singh "Sahil"

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)