Tuesday, May 27, 2008

दीदी की पाती .....सिक्को के बारे में कुछ रोचक बातें

आज आपको बताऊँगी मैं सिक्को यानी पैसे के बारे में कुछ रोचक बातें ...सारी दुनिया आज कल इस के पीछे पागल है ...:) पर यह कैसे कैसे रूप में आए और दुनिया को अपने इशारों पर नचाया आईये आपको बताते हैं ...

१) कागज के नोट संसार में सबसे पहले चीन में १९० इस्वी में चले

२ )सम्वत लिखा सबसे पुराना सिक्का १२३४ इस्वी का डेनमार्क का है

३ )धातु का सबसे भारी सिक्का स्वीडन में १६४४ में निकला था उसका वजन २१ किलोगार्म था और उसकी कीमत होती थी उस वक्त २ गाय

४) याक द्वीप पर कुछ पत्थर के सिक्के भी मिले हैं जो करीब ३.५ ऊँचे और ८० किलो वजन के हैं

५ )सबसे अधिक कीमत वाला नोट सयुंक्त राज्य अमेरिका ने निकला था जो १० हज़ार डॉलर का नोट था सन् १९४४ के बाद वैसे नोट फ़िर कभी नही छापे गए

६ )सबसे छोटा सिक्का सन् १७४० में नेपाल ने जारी किया था जो केवल २ बाय २ का मिलीमीटर का था

७ )सबसे आकार में छोटा नोट चीन में सन् १३६८ इस्वी में छापा था उसका आकार ३३/२३ सेन्टीमीटर था

८)सिक्को से धातु चोरी करना पुरानी जाल साजी है १७ सदी में इसकी रोकथाम के लिए सिक्कों के चारो और खडी हुई धारियाँ बनायी जाने लगी जिसे अगर कोई सिक्के से धातु को काटे तो पता चल जाए


९) भारत में १ रुपये का नोट भारत सरकार तथा २ रुपये का नोट जो अब कम ही दिखता है और उस से बड़े नोट भारतीय रिजर्व बैंक जारी करता है भारतीय नोट पर उसका मूल्य कई भाषा लगभग १५ भाषा में लिखा रहता है

१० )और क्या आप जानते हैं की सिक्के और मुद्रा इक्ट्ठे करने के शौक को न्यूमिजमेटिक्स कहते हैं


तो यह थी कुछ रोचक जानकारी सिक्कों और रुपये के बारे में ..और नई जानकारी ले कर फ़िर आऊँगी अगली पाती में खूब अपनी गर्मी की छुट्टियां मजे से बिताएं और नई नई बातें सीखे ..:) अपना ध्यान रखे

आपकी दीदी

रंजू


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

7 पाठकों का कहना है :

Kavi Kulwant का कहना है कि -

क्या बात है रंजू जी!...

sahil का कहना है कि -

bahut hi sahi laga ranju ji
alok singh "sahil"

abhinav का कहना है कि -

शर्मीले खुलकर बतियाने लगें
खवातीन गहने की तरह
नंगापन सजाने लगीं
बुजुर्ग ज़माने को
कोसते-खासते
मजा लेने लगें
इसतरह नंगापन
जिस्म पर ही नहीं
रूह में भी पसरता चला गया
अब नंगापन
आम बात है
और जमाना मुकम्मल
तरक्की की राह पर है |
बहुत खूब बिनय जी क्या बात कही
अभिनव

pooja anil का कहना है कि -

रंजू जी ,

ज्ञानवर्धक एवं रोचक जानकारी है. धन्यवाद

^^पूजा अनिल

Seema Sachdev का कहना है कि -

ranju ji yah jaankaari to vaakya hi me adbhut hai

Bhupendra Raghav का कहना है कि -

रंजू जी,

सिक्के कि जानकारी ही देती रहोगी या सिक्के भी दोगी.. एम वेटिंग....

सबसे ज्यादा मूल्य वाला भेजना

Sushma Garg का कहना है कि -

रंजू जी,
आपकी पाती बहुत बढ़िया लगी.

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)