Thursday, December 11, 2008

वर्णमाला-व्यंजन पाठ ६,७,८

प्यारे बच्चो ,
अभी तक आपने सीखा स्वर और व्यंजन में क-वर्ग ,च-वर्ग ,ट-वर्ग ,त-वर्ग अब सीखते है इससे आगे पाठ ६ , ७ और ८ प-वर्ग ,अन्तस्थ और ऊष्म तो आओ मेरे साथ........

पाठ ६


प पक्षी और से फल
खाओ फल आएगा बल



ब बन्दर और भ से भालु
आओ बच्चो तुम्हे दिखा लूँ



म मछली है जल के अन्दर
बच्चों इसको कहते प-वर्ग


पाठ 7


य युवक और र से रथ
बच्चो काभी न लाना स्वार्थ



ल लैम्प और व से वस्त्र
बच्चो सीख लो यह अक्षर


पाठ 8.


शेर और ष षटकोण
बच्चो क्यो बैठे हो मौन



सेब और ह से हाथ
बच्चो सब मिल रहना साथ

*************************


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

7 पाठकों का कहना है :

आलोक साहिल का कहना है कि -

BEHATARIN PATH,aaj to bacche mast ho jayenge.
ALOK SINGH "SAHIL"

भूपेन्द्र राघव । Bhupendra Raghav का कहना है कि -

:) मजेदार शृंखला...

divya naramada का कहना है कि -

जिस बच्चे को अक्षर ज्ञान नहीं है वह अक्षर वस्त्र आदि शब्द बोल सकेगा क्या?

gazalkbahane का कहना है कि -

यहां कुछ अटक है ,दोबारा ध्यान दें ।
फिर भी आपमें बाल मन हेतु लिखने की ईश्वर दत्त प्रतिभा है इस आगे बढाएं ।बाल साहित्य अच्छा बाल साहित्य बहुत जरूरी है और इसे लिखना सबसे कठिन भी लेकिन आप सहज भाव से कर पा रहीं हैं ।लिखते रहें आपकी कलम हेतु दुआगो हूं मैं
श्याम सखा श्याम

gazalkbahane का कहना है कि -

अक्षर ज्ञान से क्या मतलब जो बच्चा विद्यालय जा रहा है वह बोलना तो सीख ही चुका है-नये अक्षर सीख ही लेगा

Kuldeep Pal का कहना है कि -

बहुत अच्छा अगर उच्चारण की वीडियो भी डाली जा सके तो बहुत ही सुंदर हो जाए

Anonymous का कहना है कि -

shikshika hun ,inki keemt janti hun
badi pyari rachnae hai ek se badh kar ek . kahan chhipe the babu apni indu ma'm se

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)