Saturday, December 13, 2008

बाल उद्यान ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि....



आतंकवादियों के हमले से कई निर्दोष लोग, अधिकारिओं तथा जाँबाजों को देश ने खो दिया है। इन शहीदों की कुर्बानी हम कभी भूल नहीं पाएँगे।

दिनांक ५ दिसम्बर २००८ को हाथों में मोमबत्तियां लिए एन.३ स्पोर्ट्स अकेडमी, औरंगाबाद. के बच्चों ने मारे गए निर्दोष जनता, सजीले सैनिक व वीर अधिकारियों को मौन श्रद्धांजलि दी। एन-३ स्पोर्ट्स अकेडमी के संचालक श्री संदीप जगताप, प्रशिक्षक श्री बी.एम॰ अंबे, पंकज परदेसी, उदय डोंगरे व श्री निवास मोतियेले ने भी मोम बत्ती जलाकर शहीदों के प्रति संवेदना प्रकट की।
इस अवसर पर बाल-उद्यान की गतिविधि प्रमुख श्रीमती सुनीता यादव ने मुम्बई हमले की निंदा करते हुए, शहीदों को अंतर्मन से नमन करते हुए उपस्थित भावी नागरिकों को सच्चाई के पथ पर आगे बढ़ने की प्रेरणा दी। मैथली शरण गुप्त की 'मनुष्यता' कविता का सार 'जीवन की सार्थकता दूसरों की सहायता करने में है' समझाते हुए भारतीयता को बनाये रखने की बात कही।

कार्यक्रम की कुछ झलकियाँ-








आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

2 पाठकों का कहना है :

सीमा सचदेव का कहना है कि -

Shaheedo ko hamaaraa bhi naman

sahil का कहना है कि -

सुनीता जी,आप से हमेशा ही ऐसे किसी शुभ कार्य की अपेक्षा रहती है.
अमर शहीदों को नमन.
आलोक सिंह "साहिल"

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)