Wednesday, December 3, 2008

आतंकवाद और बच्‍चे

जैसा कि आज कल रोज-रोज आतंकवाद पर काफी कुछ और पढ़ रहे होगे। अभी हाल में भारत के सबसे बड़े महानगर मुम्‍बई में आतंवादियों ने भीषण हमला किया और सैकड़ो लोगों की जान चली गई। भारत को कितनी बड़ी आर्थिक और नागरिक क्षति उठानी पड़ी। कहीं हिन्‍दी प्रेमी हमेशा के लिये हमसे रूठ गया तो कही भारत माता की रक्षा करते हुये वीर सैनिक शहीद हो गये। इस आतंकवाद के कारण हजारों माँ-पिता-भाई-बहनों ने अपने प्रियजनों को खोया है। हमें इस आतंकवाद रूपी राक्षस को मारने के लिये शपथ लेनी होगी, ताकि आगे से कोई भी आतंकवादी हमला भारत की जमीन पर न हो।


बच्‍चो आप लोग इस देश के भविष्‍य हो। खूब पढ़ो-लिखो ताकि आप इस देश ठीक से चलाओ। आज हमारा प्रशासन ठीक नहीं है, जिस कारण हमको ऐसे दिन देखने पड़ते है। अगर आप खूब पढ़ोगे तो निश्चित रूप से आप अधिकारी बनोगे और देश की खराब व्‍यवस्‍था को समाप्‍त कर अच्‍छा शासन लाओगे। अगर हमारा शासन अच्‍छा होगा तो आतंकवादी भी भारत की ओर आँख उठाने से डरेंगे। तो आप सभी लोग ठान लो कि हम सब खूब पढ़-लिख कर ऐसा काम करेगे ताकि भारत माता पर हमला न हो, और हाँ पढ़ाई के साथ-साथ रोज आधा/एक घन्‍टा नजदीक के पार्क या मैदान खेलने भी जाया करो। पढ़ाई से दीमाग तथा खेल से शरीर मजबूत होता है।


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

4 पाठकों का कहना है :

सीमा सचदेव का कहना है कि -

सच्च कहूं तो पहली बार मैंने अपने आप को इतना
बेबस महसूस किया है कि
इस भयानक बवंडर की जानकारी
बच्चों को कैसे दूँ ? क्या उनके नन्हे से कोमल
मन यह सब सुनाने के लिए तैयार है | बच्चे देश का
भविष्य होते है और उनको इस कड़वी सच्चाई से अवगत
होना ही होगा |आपकी जानकारी के लिए क्या कहूं.....?

Dr. Shyam Gupta का कहना है कि -

preeti kaa ek deepak jalaao sakhe
deharee kaa andhera simat jaayegaa.
preeti ka geet ik gungunao sakhe
ye hriday deep fir jagmagaajayegaa.

ye andheraa hai kyon vishva main chha raha,
saye aatank ke kaun bikhraa rahaa,
rashtr ke bhaav antas sajaao sakhe
ye tam ka kuhaasaa bhee chhant jaayeegaa.

रंजना [रंजू भाटिया] का कहना है कि -

बहुत सरलता से आपने बच्चो को बात समझा दी ..

neelam का कहना है कि -

आप की बात सभी बच्चों
को प्रेरणा देगी, देश के प्रति उनकी जागरूकता को जगाने का प्रयास करने पर हमारी भी बधाई अवश्य स्वीकारें

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)