Sunday, August 15, 2010

आजाद देश के वासी

प्यारे-प्यारे बच्चो, नमस्कार!
आप सभी को पता है कि 15 अगस्त आजादी दिवस है..तो आप लोग अपने दोस्तों व परिवार के संग मिलकर खूब धूम-धाम से इस दिन पर उत्सव मनाना और हमेशा अपने देश का हित सोचना..हमारे देश को बहुत मुश्किल से आजादी मिली थी..इसकी हमेशा लाज रखना और रक्षा करना आप सभी का परम कर्तव्य है... समझ गये ना? और देखो, मैंने आप लोगों के लिये ये कविता भी लिखी है...इसको पढ़ते हुये मुझे भी याद कर लेना..आप सभी लोगों को स्वतंत्रता दिवस की बहुत बधाई और मेरा ढेर सारा प्यार. अच्छा चलो, अब कविता पढ़ो और अपनी आंटी..यानी मुझे बताना मत भूलना कि आपको ये कविता कैसी लगी..ठीक..? जल्दी ही फिर मिलूँगी...तब तक के लिये बाईईई...

आजाद देश के वासी

बच्चो आओ तुम्हे सुनाऊँ
इस देश की एक कहानी
आजादी को पाने को
लोगों ने दी थी क़ुरबानी
भारत है आजाद हमारा
और तुम इस देश के वासी
गाँधी, सुभाष और लोग भी
थे आजादी के अभिलाषी
उनके संग न जाने कितने
लोगों ने भी त्याग किया था
अंग्रेजों के चंगुल से फिर
अपने देश को छुड़ा लिया था
थे गुलाम सब लोग यहाँ
और पराधीन था देश
जंजीरों से जकड़ा हर कोई
फरक हुआ परिवेश
हर किसी की जुबान पर
था स्वतंत्रता का नारा
तब भारत माता के लालों ने
अंग्रेजों को ललकारा
अब तुम सब बच्चे मिलकर
करना अच्छे-अच्छे काम
अच्छी बातों को ही अपनाना
करना देश का ऊँचा नाम
अनहित की न कभी सोचना
ना करना दुखी किसी को
है भविष्य तुम्ही से इसका
ना अब देना इसे किसी को.

-शन्नो अग्रवाल


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

4 पाठकों का कहना है :

Chinmayee का कहना है कि -
This comment has been removed by a blog administrator.
manu का कहना है कि -
This comment has been removed by a blog administrator.
shanno का कहना है कि -
This comment has been removed by a blog administrator.
Anonymous का कहना है कि -
This comment has been removed by a blog administrator.

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)