Saturday, August 14, 2010

आजाद देश के पंछी हम


प्यारे बच्चों, तो आजादी के दिवस पर आप सबकी स्कूल जाने से छुट्टी है तो मौज करो और खुशियाँ मनाओ लेकिन अपनी आजादी का फायदा कभी इस तरह ना उठाना कि किसी को दुख मिले या तुम्हारे अपने जीवन में परेशानियाँ आयें..हमेशा कोमल भावनायें व नेक इरादों को अपने मन में रखना..किसी की मजबूरियों का मजाक ना उड़ाना..और देखो मैंने आपके लिये एक और कविता लिखी है इस अवसर पर...पढ़कर जरूर बताना इसके बारे में कुछ कहकर...मुझे और नीलम आंटी को भी जरूर याद करना इस दिन...

जय हिंद !


आजाद देश के पंछी हम


आजाद देश के पंछी हम
जय हिंद ! वन्दे मातरम् !

हाँ, आज का दिन छुट्टी का दिन

सुबह-सुबह सो के उठी मुन्नी
बोली मेरी स्कूल से छुट्टी
भैया की कालेज से छुट्टी
पापा की आफिस से छुट्टी
आज सबकी है मौज सारा दिन

हाँ, आज का दिन छुट्टी का दिन

आज खेलेंगें, टीवी देखेंगे
परेड निकलेगी, गाने सुनेंगे
सड़कों पर जलूस निकलेगा
भरत नाट्यम डांस भी होगा
होगी तब ताक धिना-धिन

हाँ, आज का दिन छुट्टी का दिन

आजाद देश के पंछी हम
जय हिंद ! वन्दे मातरम् !

प्राइम मिनिस्टर की स्पीच होगी
पापा डांटेंगे कमरे में चुप्पी होगी
मम्मी किचन में जायेगी
आज वो खीर हलवा खिलायेगी
आसमान में पतंगें उडेंगी अनगिन

हाँ, आज का दिन छुट्टी का दिन

आजाद देश के पंछी हम
जय हिंद ! वन्दे मातरम् !

-शन्नो अग्रवाल


बच्चो, इस कविता को मैंने अपनी आवाज़ भी दी है। सुनकर ज़रूर बताना कि आपलोगों को कैसी लगी?



(चित्र गूगल से साभार)


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

6 पाठकों का कहना है :

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ का कहना है कि -

सुंदर भावाभिव्यक्ति।
………….
सपनों का भी मतलब होता है?
साहित्यिक चोरी का निर्लज्ज कारनामा.....

shanno का कहना है कि -

रजनीश जी,

रचना पसंद करने का बहुत शुक्रिया..आपको व बाल उद्यान के सभी साथियों को इस स्वतंत्रता दिवस पर बहुत बधाई. जय हिंद !

shanno का कहना है कि -

नीलम जी, अभी-अभी मैंने ये कविता सुनी.इसे अपनी मीठी आवाज़ देने का बहुत शुक्रिया.. स्वतंत्रता दिवस की बधाई व शुभकामनायें..

manu का कहना है कि -

पढने में कविता अच्छी लगी...
सुन नहीं पा रहे हैं अभी...

सभी को स्वतंत्रता दिवस की बधाई...

shanno का कहना है कि -

मनु जी, आपको कविता सराहने के लिये बहुत-बहुत धन्यबाद !

और कविता के संग इतनी सुन्दर तस्वीर के लिये
शैलेश का बहुत आभार और धन्यबाद...

बच्चे यहाँ अधिक नहीं दिखे..कहाँ हैं सब ???? :)

rachana का कहना है कि -

shabd mile awaj se ho gaya kamal
sun ke is geet ko hum ho gaye nihal
bahut khoob
rachana

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)