Friday, June 5, 2009

पहेलियाँ हमारी जवाब आपके

शनिवार का दिनहो ,और बाल उद्यान पर पहेलियाँ न हो ,ये कैसे हो सकता है ?नही हो सकता न तो बस प्रस्तुत हैं आपकी पहेलियाँ जो आपको दिमागी कुश्ती सिखाती हैं और हम सब को शनिवार के दिन एक दूसरे से बात करने का माध्यम भी बनाती हैं


चुनाव ख़तम और देश भी अपनी राह पर है ,तो आज की पहेलियाँ कुछ राजनितिक पृष्ठ भूमि पर ही है ,उम्मीद है ,की आप सब लोग पूरे उत्साह के साथ पहेलियों की कक्षा में बिना उछल कूद किए अपने जवाब देंगे ,क्योंकि कक्षा की मॉनिटर अभी आप लोगों को संभाल पाने की हालत में नही है ,और मनु जी जिन्हें अस्थाई रूप से मॉनिटर बनाया था ,शन्नो जी की अदाएं सीखने में लगे हुए हैं ,उन्हें उनके हाल पर छोड़ते हुए हम लोग पहेलियाँ सुलझाते हैं

१)सौ साल से अधिक पुराना
एक दल जाना पहचाना
टुकड़े इसके हुए अनेक ,
मौलिक चोला चुका है फ़ेंक





२)जनता से जन्मी पार्टी है ,
दीपक इसका प्रथम निशान
एक धर्म का पक्ष यह लेवे,
सौगुनी बढ़ी है सीना तान





३)था कहलाता बड़ा उडाकू
एक समय थी काफी धाक
था काम का ढंग अजूबा
उसका शौक उसे ले डूबा





४)सौम्य सुदरशन बुजुर्ग काया ,
कृष्ण हैं वो इस काल के
खूब सवारी रथं पर की ,
देखो नसीब इस लाल के




मेहनत की थी गाढी,

पहचान थी उनकी दाढी

खींची गाड़ी चार माह

,पूरी कर ली अपनी चाह








मिलते हैं पहेलियों के सही जवाब के साथ सोमवारको ,तब तक के लिए खुदा हाफ़िज



आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

17 पाठकों का कहना है :

Manju Gupta का कहना है कि -
This comment has been removed by the author.
Manju Gupta का कहना है कि -

dimag ki badiya kasrat hai, bacchon se lekar budo ke liye. maulik paheliya hai. jawab de rahi hoon.
1.congress party
3.sanjay gandhi
4.lalkrishna advani

Manju Gupta

manu का कहना है कि -

क्या सरल सवाल पूछे हैं,,
हम तो राजनैतिक सवालों के बारे में सुनकर ही निकलने लगे थे पतली गली से,,,
(१) कांग्रेस,,,
(२) शायद भारतीय जनता पार्टी
(३) संजय गांधी
(४) लाल क्रिशन आडवानी
(५) चन्द्र शेखर,,,,
::::)))

manu का कहना है कि -

शायद शन्नो जी के ना होने से आज सारी पहेलियों के जवाब दे पाया हूँ...
वो तो दिमाग ही नहीं चलने देती थी कभी,,

:::)))

स्वपनदर्शी का कहना है कि -

नमस्कार नीलम जी,
हमारे उत्तर इस प्रकार है:
१ कांग्रेस पार्टी
२ भारतीय जनता पार्टी
३ स्वर्गीय श्री संजय गाँधी
४ श्री लाल क्रिशन आडवानी
५ स्वर्गीय श्री चन्द्र शेखर

neelam का कहना है कि -

बाकी सब कहाँ हैं ??????

neeti sagar का कहना है कि -

अरे ये क्या???????मेरा बुद्दिमान बने रहने का चांस तो चला गया,,,,और अब तो चोकलेट मिलनी भी बंद हो गई,,,, तो क्या मज़ा आएगा ,,,अब तो क्लास में ज्यादा बच्चे भी नहीं आते तो टीचर जी को कोई नई गिफ्ट रखनी पड़ेगी नहीं तो बाकि बच्चो ने भी आना बंद कर दिया तो?????????बुरा मत मानना टीचर जी मैं तो बस सोच रही थी की बिना बच्चो के क्लास कैसी लगेगी?????????

neelam का कहना है कि -

नीति जी आप कितनी भी चाल चलिए , चौकलेट तो हम देने वाले नहीं ,अलबत्ता आप पहेलियों की कक्षा की बात कर रही हैं , तो ये वाकई चिंता जनक बात है ,आप सब से ही रोशन है पहेली की कक्षा ,और आप से ही है रौनक इन पहेलियों की कक्षा की ,तो कोई उपाय बताईये की कैसे इस कक्षा की जीवन्तता बढाई जा सकती है ,कुछ तो बेहद
लेट लतीफ़ हैं ,कुछ मन मौजी हैं सभी तरह के प्रतिभागी हैं और शन्नो जी की अनुपस्थिति है तो सब राम भरोसे है ,अब ये मत पूछना की ये राम भरोसे कौन है ?ये तो हमे भी नहीं पता

manu का कहना है कि -

फिलहाल ,,
आजकल तो शन्नो जी के पेट का हाजमा है राम भरोसे,,,,,
और है एक और पहेली....
शन्नो जी की तरफ से,,,
(भाई मोनीटर जो हैं,,,,, किसी भी हाल में हो,,कुछ भी पूछ सकती हैं,,,)

पूछा है,,,दोहे में....

जो भी मिलना चाहता, मैं तो हूँ तैयार,

अब इस दोहे को पूरा कीजिये,,,

dschauhan का कहना है कि -

जब चाहे आ जाइए, ले पूरा परिवार!
ले पूरा परिवार, कि मिलिए शन्नो जी से!
होगी शिरकत आपकी, तो बढ़ जायेगा प्यार!

मनु जी कोशिश की है, मुझे कविता/ दोहे की समझ नही है!

Nirmla Kapila का कहना है कि -

pahalee baar ye blog dekhaa to jaanaa ki main to ab tak kahin soi rahi itane badiyaa blog se vanchit rahi baki ham to khud khuli kitaab ki tarah hain naa paheli me baat karte hain na hee boojh sakte hain haa ha ha bahut badiyaa fir manu ji se mukabala kaun kare naa baba na

rachana का कहना है कि -

१ कांग्रेस पार्टी
२ भारतीये जनता पार्टी (पर दीपक निशान का पता नहीं ) janta se janmi kaha to yahi laga
३ संजय गाँधी (पता नहीं सही है या नहीं )
४ लाल किर्ष्ण अडवाणी
५ नाम याद नहीं आ रहा था पर सभी का देखा तो याद आया पर वो तो नक़ल हुई न तो नहीं लिख रही हूँ

मनु जी ये देखिये ठीक है या नहीं

जो भी मिलना चाहता मै तो हूँ तैयार
मिठाई का डिब्बा ले के ,आये मेरे द्वार


रचना

manu का कहना है कि -

क्या बात है डी. एस. जी.....
पहली दो लाईने तो क्या सही लिखी हैं आपने ...और कहते हैं के आपको कविता दोहे की समझ नहीं है.... ( बड़े मजाकिया है आप तो.....) एकदम साधा हुआ लिखा है,,

लिखने की कोशिश तो रचना जी ने भी की है पर वो क्या है के.....
मिठाई के डब्बे के चक्कर में पद कर ज़रा सा बैलेंस हिल गया...( हमें गोल गप्पे खिलाने की बात हो तो हम ठीक करने की कोशिश करें...)

neelam का कहना है कि -

swapndarshi ji,
sabse achche pratibhaagi ghosit kiye gaye hain .

sabse natkhat baalika hai neeti jo jawaab to kam deti hai par baate jyaada banaati hai .

manuji,rachnaji,aur chauhan ji paheli bhool kar dohe aur shanno ji ki yaad me kho gaye hain .

shanno ji ki baat hi kuch niraali hai .
mnju ji v nirmla ji aapka paheliyon ki kaksha me haardik swaagat hai .
milte hain agle shanivaar ko agli rochak paheliyon ke saath .

Shamikh Faraz का कहना है कि -

हिन्दयुग्म का यह तरीका नायब लगा और हाँ मनु जी को सही जवाब देने के लिए बधाई.

sumit का कहना है कि -

राजनीति के मामले मे तो मै वैसे ही कमजोर हूँ पर कोशिश कर सकता हूँ जवाब बताने की शायद कोई तुक्का ही लग जाए

१ कांग्रेस

२ भारतीय जनता पार्टी

sumit का कहना है कि -

नीलम जी
हिन्द युग्म का home page update नही हो रहा जिस कारण नयी पोस्ट का पता नही चलता शायद इसलिए बच्चे कम आये है इस बार

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)