Monday, September 14, 2009

हिन्दी दिवस

हिन्दी दिवस पर ......................
१.दुनिया भर में शायद ही ऐसी विकसित भाषा हो जो सरलता में और अभिव्यक्ति की क्षमता में हिन्दी की बराबरी कर सके
फादर कामिल बुल्के


२.हिन्दी देश की एकता की कड़ी है
डा.जाकिर हुसैन

३.देश के सबसे बड़े भू भाग में बोली जाने वाली हिन्दी ही राष्ट्र भाषा की पद कीअधिकारिणी है
सुभाष चंद्र बोस

४.राज भाषा के बिना राष्ट्र गूंगा है ,कोई भी देश अपनी राष्ट्रीय भावनाओं को अपनी भाषा में ही अच्छी तरह व्यक्त
कर सकता है
महात्मा गांधी

५.हिन्दी हिमालय से लेकर कन्याकुमारी तक व्यवहार में आने वाली भाषा है


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

7 पाठकों का कहना है :

shanno का कहना है कि -

नीलम जी,
सुन्दर बिचारों के लिये धन्यबाद. हिंदी व हिंदी-दिवस हम सबको मुबारक हो!
मुझे भी कुछ कहना है:

मै भारत माँ की बेटी हूँ
नस-नस में बसती है हिंदी
भारत माता शोभित होती
जब लगती हिंदी की बिंदी.

Manju Gupta का कहना है कि -

विचारकों के बहुत अच्छे सुविचार दिए .

HEY PRABHU YEH TERA PATH का कहना है कि -

नीलम जी
आपने जो लिखा वो ग्रहण करने वाली बाते है- बहुत सुन्दर,
आप को हिदी दिवस पर हार्दीक शुभकामनाऍ।
आभार

मुझे भी कुछ कहना है:
मै यह नही कहता हू कि हिन्दी कि स्थिति सुधरी नही है। भाषा के प्रति लोगो कि जागरुकता बडी है। हिन्दी हमारी पहचान है। मै एक ऐसे भारत की कल्पना नही करता हू, जहॉ हिन्दी सारे देश मे समान रुप बोली जाऍ, लिखी जाऍ। मगर ऍसे देश की कल्पना जरुर करता हू जहॉ हिन्दी के प्रति हीनभावना खत्म हो जाऍ।
-(हे प्रभू यह तेरापन्थी)

पहेली - 7 का हल, श्री रतन सिंहजी शेखावतजी का परिचय

हॉ मै हिदी हू भारत माता की बिन्दी हू

हिंदी दिवस है मै दकियानूसी वाली बात नहीं करुगा

संगीता पुरी का कहना है कि -

आपने हिन्‍दी पर बहुत अच्‍छे अच्‍छे विचारों को प्रस्‍तुत किया .. .. ब्‍लाग जगत में कल से ही हिन्‍दी के प्रति सबो की जागरूकता को देखकर अच्‍छा लग रहा है .. हिन्‍दी दिवस की बधाई और शुभकामनाएं !!

Udan Tashtari का कहना है कि -

हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ.

कृप्या अपने किसी मित्र या परिवार के सदस्य का एक नया हिन्दी चिट्ठा शुरू करवा कर इस दिवस विशेष पर हिन्दी के प्रचार एवं प्रसार का संकल्प लिजिये.

जय हिन्दी!

Shamikh Faraz का कहना है कि -

बहुत ही सुन्दर सूक्तियां पढने को मिली हिंदी भाषा के बारे में.

Shamikh Faraz का कहना है कि -

इस मौके पर मुझे भी एक सूक्ति याद आ रही है.

"हिंदी मात्रभाषा नहीं मातृभाषा है."

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)