Thursday, February 12, 2009

हाथी बन गया साथी

हाथी बन गया साथी


जंगल मे रहता इक हाथी
नही बनता वो किसी का साथी
अकेले ही जंगल मे घूमता
बाकी सबको को छोटा कहता

मुझ सा जंगल मे न कोई
सोच के सब मर्यादा खोई
मैं तो सबसे बड़ा यहां पर
कर सकता हूँ राज जहाँ पर

जो कोई भी मुझसे टकराए
वो तो बस मुँह की ही खाए
क्यो मैं इनको समझूँ साथी
नही हो सकता मैं जजबाती
अपने में खुश होता रहता
स्वयं को ही बलशाली कहता
पर इक दिन इक वृक्ष के नीचे
सोया था हाथी आँखें मीचे
चींटी इक ऊपर से गिर गई
और हाथी के कान मे पड़ गई
भागा इधर-उधर वो हाथी
पर कोई नही था उसका साथी
आ के कौन अब उसको बचाता
नही था उसका किसी से नाता
चींटी जब हाथी को काटे
तड़प के हाथी मारे लातें
गया वो सबके पास वहां पर
मिलकर बैठे सारे जहां पर
हाथ जोड़ कर बोला हाथी
समझो मुझको अपना साथी

अब तुम मेरी जान बचा लो
कान से मेरे चींटी निकालो
सुन कर हँसने लगे थे सारे
दिख गए हाथी को दिन मे तारे
पर इक चूहा समझदार था
उन सबमें से होशियार था
उसने उन सबको समझाया
अच्छाई का नियम बताया

आड़े वक़्त मे काम जो आए
वही सबसे अच्छा कहलाए
आयें हम हाथी के काम
होगा अपना भी ऊँचा नाम

सबको बात समझ में आई
हाथी के संग की भलाई
सबने चींटी निकाली मिलकर
मिली राहत उसको अब जाकर
आई हाथी की जान मे जान
पकड़े उसने अपने कान
अब मैं तुम संग मिल के रहूँगा
कभी न किसी को बुरा कहूँगा
.....................
.....................
रहेगा मिलकर सबसे हाथी
अब वो बन गया सबका साथी
.....................
.....................
बच्चो तुम भी मिलकर रहना
कभी किसी को बुरा न कहना
बुरे वक़्त मे काम जो आए
वही सच्चा साथी कहलाए
*************************


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

3 पाठकों का कहना है :

Nirmla Kapila का कहना है कि -

seemaji har baar ki tarah bahut sunder kavita hai bahut bahut bdhaai

neeti sagar का कहना है कि -

बहुत ही अच्छी रचना!बच्छे तो क्या बड़े भी समझ गए होगे,जो आपकी कविता में सीख है.बधाई!

neelam का कहना है कि -

अब तुम मेरी जान बचा लो
कान से मेरे चींटी निकालो
सुन कर हँसने लगे थे सारे
दिख गए हाथी को दिन मे तारे

.....................
बच्चो तुम भी मिलकर रहना
कभी किसी को बुरा न कहना
बुरे वक़्त मे काम जो आए
वही सच्चा साथी कहलाए
हा हा हा हा हा अह अह हा हु हु हु हु ही इह इह ही हिहिहिहिहिहिहिहिः ,सीमा जी क्रम
नही टूटना चाहिए

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)