Thursday, November 19, 2009

आम और केले की लड़ाई



एक बार की बात है बच्चो,
आम और केले में थी ठन गई,
केला बोले मैं हूँ मीठा,
आम कहे मैं तुझसे मीठा।

यूँ ही दोनों में तब बच्चो,
बढ़ते-बढ़ते बहस थी बढ़ गई,
कौन है दोनों में से मीठा,
बात यहाँ पर आ कर अड़ गई।

केला बोला चल हट झूठा,
कभी-कभी तू होता खट्टा,
मेरे स्वाद पे लेकिन देखो,
लगता नहीं कभी है बट्टा।

आमजी ने पर घुड़की लगाई,
बोला मैं हूँ फलों का राजा,
जब मेरा मौसम है आता,
सब कहते हैं आम को खाजा।

स्वाद बेशक हो मेरा खट्टा,
फिर भी मिलता अलग जायका,
स्वाद तेरा हो हरदम इक सा,
कभी-कभी तो हो तू फीका।

आम सिर्फ गर्मी में आये,
केला हर मौसम में खायें,
तू तो बस है स्वाद का राजा,
मुझसे लोग फायदे भी पायें।

हुआ नहीं जब कोई फैसला,
बंदरजी इक कूदे आये,
बोले मैं हूँ बड़ा अक्लमंद,
कई फैसले मैंने कराये।

दोनों को तब याद थी आई,
बिल्लियों की मशहूर लड़ाई,
बंदर के जज बनने से पहले,
थोड़ी सी थी अक्ल लगाई।

आखिर हम दोनों ही फल हैं,
बेशक अलग-अलग है जाति,
दूजे के हाथों गर खेलें,
निश्चित हार नजर है आती।

ऐसे ही है देश हमारा,
अलग है भाषा, अलग धर्म है,
मिलजुल के सब रहना बच्चो,
देश के प्रति यही कर्म है।

--डॉ॰ अनिल चड्डा


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

8 पाठकों का कहना है :

संगीता पुरी का कहना है कि -

फलों के बहाने से सुंदर संदेश देती है ये रचना .. सुंदर रचना के लिए आपको बहुत बधाई !!

Science Bloggers Association का कहना है कि -

बहुत सुंदर रचना।
------------------
11वाँ राष्ट्रीय विज्ञान कथा सम्मेलन।
गूगल की बेवफाई की कोई तो वजह होगी?

rachana का कहना है कि -

ladai padhte huye maja aya aur ant padh ke to bahut hi aanand aaya .
sunder soch
saader
rachana

श्याम सखा 'श्याम' का कहना है कि -

केला बेशक बजाए बाजा
आम रहेगा फ़लों का राजा

neelam का कहना है कि -

bhai baah ,maja aa gaya ladaai me bhi ,bandar ki entry me bhi ,aur falon ki samajhdaari me bhi ,aur sabse jaroori baat aapki shiksha me bhi .aisi hi kavitaayen saarthak karti hain baal-udyaan ke manch ko .

©डा0अनिल चडड़ा(Dr.Anil Chadah) का कहना है कि -

आप सब को कविता पसन्द आई, अच्छा लगा । प्रोत्साहन के लिये आभार ।

dschauhan का कहना है कि -

बहुत सुन्दर कविता है Dr. चड्ढा,
हार्दिक बधाई!

Kavi Kulwant का कहना है कि -

bahut khoob..

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)