Saturday, October 11, 2008

हँसी का गुल्ला..

पोते ने दादा जी को एक खिलौना दिखाया, दाम पूछने पर पोते ने बताया ५००रुपये का |
दादाजी (पोते से) : पता है, हमारे जमाने में हम ५०० रुपये में घर का सारा राशन, कपड़े, पुस्तकें, खिलौने सभी कुछ ले आते थे|
पोता (दादा जी से बड़ी मासूमियत से) बोला: दादा जी आप ऐसा इसलिए कर पाते थे क्योंकि आप के जमाने में तब C.C.T.V (Close Circuit TV) नही हुआ करते थे |

(रीडर्स डाइजेस्ट से साभार)

--नीलम मिश्रा


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

4 पाठकों का कहना है :

तपन शर्मा का कहना है कि -

हा हा... आज कल के बच्चे.. :-)

Saurabh Sahay का कहना है कि -

vah!! kya masoomiat hai

भूपेन्द्र राघव । Bhupendra Raghav का कहना है कि -

:)

पीड़ी एडवांस्ड है :)

deepali का कहना है कि -

good joke

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)