Monday, September 24, 2007

एक चिडिया

मित्रो , वेसे तो मैं अपनी कविता ही पोस्ट करना चाहता था किन्तु मुझे कुछ ऐसा मिल गया जिसने मुझको बचपन के गलियारों मे जाने को मजबुर कर दिया ये यू-ट्यूब की एक लिंक है जो शायद आपकी भी बचपन की यादों को ताजा कर देगी |

निम्न विडियो को देखिए और यादों मे खो जाइये , मुझे उम्मीद है ये आपको ये पसंद आयेगा |



एक चिडिया


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

4 पाठकों का कहना है :

रचना सागर का कहना है कि -

ऋषिकेश जी
मै यहाँ पर तो नही देख सकता परंतु यह मुझे मिल गयी थी।
सचमुच बचपन की याद ताजा कर देती है और तो और मेरी बेटी को भी बहुत पसंद है यह।

राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि -

रिषिकेष जी,

दुर्लभ संग्रहालय बाल-उद्यान को प्रदान करने का आभार।

विनम्र निवेदन करना चाहूँगा कि आपकी मौलिक अभिव्यक्ति का आनंद कुछ और ही होता साथ ही साथ यदि इस प्रकार का संग्रहालय बाल-उद्यान को आप अलग से प्रदान करें जिससे समय समय पर उसे किसी विषेश पर्व/अवसर पर प्रस्तुत करने में सुविधा हो।

*** राजीव रंजन प्रसाद

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

मैं राजीव जी से सहमत हूँ।

Gita pandit का कहना है कि -

ऋषिकेश जी,


बहुत अच्छे..

बधाई

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)