Saturday, August 15, 2009

लगातार बारिश भी रोक न सकी स्वाधीनता दिवस मनाने का जज्बा

आज दिनांक 15 अगस्त 2009 को बाल-उद्यान के आदर्श कुंज अपार्टमेंट, सेक्टर-13, रोहिणी, नई दिल्ली में 63वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाया, जिसमें कॉलोनी के बच्चों और उनके माता-पिता ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। आज दिल्ली में सुबह से ही बारिश होती रही, जिसके कारण कार्यक्रम के आयोजन में थोड़ी सी दिक्कत हुई। फिर भी बच्चों का उत्साह देखते ही बनता था, हैरान करने वाली बात यह भी हुई की न केवल बच्चों वरन बड़ों ने भी पूरा सहयोग किया और इस तरह के आयोजन जल्दी-जल्दी करवाने का आग्रह भी किया।

बाल-उद्यान की संपादिका नीलम मिश्रा और हिन्द-युग्मी तपन शर्मा अपने मकसद में कामयाब थे, बच्चों को कुछ अपने देश के बारे में सोचने और देशभक्ति के बारे एक अलख जगाने का काम और सभी के प्रोत्साहन के साथ बारिश का आनंद लेते हुए इन्होंने ने अपना कार्यक्रम जारी रखा।

कार्यक्रम में ध्वजारोहण के अतिरिक्त चित्रकला प्रतियोगिता, कविता पाठ और सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता आयोजित किये गये, जिसमें प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार भी दिये गये।

सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता बच्चों तथा बड़ों दोनों के लिए थी दोनों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। बच्चों और बड़ों में थोडी देर के लिए अंतर मिट ही गया था। सब ने भरपूर आनंद लिया। अंत में एक बार फिर से बाल-उद्यान प्रमुख नीलम मिश्रा ने आदर्श-कुंज के सभी निवासियों का धन्यवाद किया, जिनके सहयोग के बिना कार्यक्रम का सफल होना लगभग नामुमकिन था।

हमने आपके लिए आयोजन की झाँकी का वीडियो बनाया है, ताकि इसी बहाने आप भी इस कार्यक्रम का हिस्सा बन सकें।


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

8 पाठकों का कहना है :

संगीता पुरी का कहना है कि -

बहुत अच्‍छा लगा .. पूरे कार्यक्रम का ट्रेलर ही आपने दिखा दिया .. स्‍वतंत्रता दिवस की बधाई !!

manu का कहना है कि -

हमें इस में भाग न ले पाने का सदा अफ़सोस रहेगा....
कृपया इसके बारे में और भी जानकारी दें..

निखिल आनन्द गिरि का कहना है कि -

मैं इस कार्यक्रम में न पाने के लिए माफी मांगता हूं....नोएडा में लगातार बारिश हो रही थी, इसीलिए आने का मन ही नहीं हुआ..साथ ही, ऑफिस के काम भी थे....आपसे कार्यक्रम के बारे में ठीक से बात भी नहीं हो पाई थी....बहुत-बहुत बधाई हो आपके हौसले के लिए....इतनी बारिश में भी इतना बढ़िया कार्यक्रम...जय हिंद

Shamikh Faraz का कहना है कि -

बादलों कि क्या मजाल जो रोक ले मुझे.

Manju Gupta का कहना है कि -

हर कोई मुस्करा रहा था .शानदर कार्यक्रम लगा देश भक्ति के सफल आयोजन के लिए बधाई

rachana का कहना है कि -

नीलम जी
आप को और सभी लोगों को जो वहां उपस्थित थे बहुत बहुत बधाई कितने प्यारे बच्चों की तस्वीरें हैं .पर क्या बच्चों का नाम पता चल सकता है .यदि नहीं तो कोई बात नहीं .पेंटिंग भी बहुत सुंदर है जितनी दिखी उस से लगता है बच्चे बहुत अच्छा बनाते हैं आप देख कर बहुत अच्छा लगा
रचना

shanno का कहना है कि -

नीलम जी,
वन्देमातरम!

स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम के आयोजन की झांकी का आनंद मैंने भी वीडियो देखकर लिया. इस प्रयास के लिए आपको व तपन शर्मा जी को बहुत बधाई.

pooja का कहना है कि -

नीलम जी और तपन जी के प्रयासों से तो हमारे भी हौसले बढ रहे हैं , अगले साल हम भी आयेंगे आपके साथ स्वाधीनता दिवस मनाने :) :) , थोडी बहुत चित्रकारी कर लेंगे और एक आधी फोटो भी ले लेंगे आपके साथ :) और जन गण मन भी याद है, वो भी जरूर गायेंगे :)
बहुत बढ़िया प्रयास है, आप दोनों को दिल से बधाई देती हूँ. बच्चों के मुस्कुराते चेहरे देख कर और आपकी प्रसन्नता देख कर हम भी इस मुस्कान से संक्रमित होकर मुस्कुरा रहे हैं . :)

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)