Tuesday, August 11, 2009

प्रकृति



सुंदर फूल, शीतल हवा,
पढ़ा था अपनी पुस्तक में पृष्ठ नवाँ,
यह प्यारे फूल और पेड़,
नदियाँ, झरने, पौधे अनेक।

जब पड़ती है धूप प्यारे फूलों पर
खिल जाती हैं कलियाँ, हट जाता है सब उनके मन से डर,
जब सुंदर मोर फैलाता है अपने पंख
तब रंगों की सुन्दरता हमें दिखती है संग

सच में सुहावना होता है यह दृश्य
कुछ ही लोगों को देखने को मिलता है यह दृश्य
क्योंकि सिर्फ़ मेरे ही देश में ही हैं ऐसे दृश्य,
जिन्हें देखकर कह उठती हूँ मैं वाह !!!!!!!!!!!!!!!!!

पाखी मिश्रा


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

11 पाठकों का कहना है :

shanno का कहना है कि -

पाखी विटिया,
बहुत सुंदर है तस्वीर और कविता भी उतनी ही सुंदर. बेटा, सुंदर-सुंदर दृश्य तो दुनिया भर में फैले हुये हैं, लेकिन जो प्राकृतिक दृश्य अपने देश भारत की धरती पर फैले हैं, उनका अहसास ऐसा होता है जैसे एक वच्चा अपनी माँ को देखकर गर्वित हो और सुकून पा रहा हो.
कविता में शब्द-चयन बड़ा प्यारा है. बहुत बधाई!

अर्शिया अली का कहना है कि -

बहुत सुन्दर.
{ Treasurer-T & S }

mona का कहना है कि -

very good, well done my laado ,poem is really very nice. waiting 4 second one.al d best.

Manju Gupta का कहना है कि -

प्यारी पाखी ,
असीम प्यार .
जितनी सुंदर तस्वीर उससे भी ज्यादा सुंदर कविता है . बहुत ही सुहावना शब्द चित्र खिंचा है. बधाई .

रावेंद्रकुमार रवि का कहना है कि -

बहुत प्यारी!

Alok Shankar का कहना है कि -

bahut achcha likha hai paakhi.
Keep it up:)

deepak का कहना है कि -

pata hi nahin chala kab tumhare shabd itne gahre ho gaye.

rachana का कहना है कि -

पाखी बेटा कितने सुंदर शब्दों का प्रयोग किया है आप ने बहुत अच्छी कविता लिखी है .सच में अपना देश बहुत सुंदर है मेरा प्यार और आशीर्वाद आप के लिए
रचना

manu का कहना है कि -

बहुत प्यारी कविता लिखी है बेटे..


सुंदर फूल, शीतल हवा,
पढ़ा था अपनी पुस्तक में पृष्ठ नवाँ,
यह प्यारे फूल और पेड़,
नदियाँ, झरने, पौधे अनेक।

हवा और नवां को मिलाते देखना बहुत भाया...
और चित्र भी सुंदर खोजा है...
ऊऊम्म्म्म मुग़ल गार्डन ..?????????

Shamikh Faraz का कहना है कि -

बहुत सुन्दर.

सुंदर फूल, शीतल हवा,
पढ़ा था अपनी पुस्तक में पृष्ठ नवाँ,
यह प्यारे फूल और पेड़,
नदियाँ, झरने, पौधे अनेक।

Devendra का कहना है कि -

वाह!

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)