Saturday, January 31, 2009

हमको ऐसा वर दो.....


हमको ऐसा वर दो.....

हमको ऐसा वर दो हे माँ वीणा वादिनी,
हम रहें करम में निरत,भक्ति में मस्त;
कार्य सिधह्स्त,गाएं जीवन की रागिनी
हमको ऐसा........................................
तू सरला,सुफला है माँ,माधुर मधु तेरी वाणी,
विद्या का धन हमको भी दो, हे माँ विद्या दायिनि
हमको ऐसा...................................................
हे शारदे,हँसासीनी,वागीश वीणा वादिनी,तुम
ग्यांन की भंडार हो,हे विश्व की सँचालिनि
हमको ऐसा............................................
*********************************
बसंत पंचमी की आप सबको हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

9 पाठकों का कहना है :

irdgird का कहना है कि -

बसंत की हार्दिक शुभकामनाएं।

समयचक्र - महेद्र मिश्रा का कहना है कि -

बहुत सुंदर
बसंत पंचमी पर्व की हार्दिक शुभकामना

तपन शर्मा का कहना है कि -

वीणा धरे, विपुल मंगल दानशीले
भक्तार्तिनाशिनी विरंचि हरीश वंदे
कीर्ति प्रदे खिल रखदेमहार्वे
विद्या प्रदायिनी सरस्वती नौमि नित्यम

manu का कहना है कि -

सीमा जी,
आप पर तो मां सरस्वती का वरद हस्त है ही ....
हमें भी दर्शन करा दिए ......
तो धन्यवाद.....

रावेंद्रकुमार रवि का कहना है कि -

माँ सरस्वती का आशीष सबको मिले!

neelam का कहना है कि -

seema ji humne saraswati vandna ko
swar diya hai ,
shayad aapko pasand aa hi jaaye ,

सीमा सचदेव का कहना है कि -

नीलम जी मुझे बेसब्री से इन्तजार रहेगा | जब पोस्ट करें
तो मुझे लिंक अवश्य कर दें | धन्यवाद

roopchandrashastri का कहना है कि -

बसन्तपंचमी पर माता वीणा की तान सुना दो,
तन-मन झंकृत कर दे ऐसा राग गुन-गुना दो।

भूपेन्द्र राघव । Bhupendra Raghav का कहना है कि -

माँ सरस्वती, दे दो मती
हर लो कुबुद्धि, शक्ति माँ
ज्ञान दान दो,माँ महान हो
जग कल्यान हो, शक्ति माँ

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)