Thursday, January 22, 2009

नेता जी सुभाष चन्द्र बोस

नेता जी सुभाष चन्द्र बोस जी के जन्म-दिवस पर एक कविता

सुभाष चन्द्र जी बोस महान
थे बच्चो वो गुणों की खान
तीक्ष्ण बुद्धि उन्होंने पाई
देते थे अंग्रेज दुहाई
बचपन से ही थे महान
सभ्य,सुसंस्कृत और विद्वान
अपने देश से करते प्यार
प्रभु मे आस्था भी अपार
महा-विचारों को अपनाया
अपना जीवन लक्ष्य बनाया
लडेंगे देश के हित मे लडाई
नव-युवकों की सेना बनाई
दिया एक जन-जन को नारा
है यह हिन्दुस्तान हमारा
खून दो मुझको मै फरियादी
बदले मे दूंगा आजादी
निकल पडे स्व-सेना साथ
ऐसे उनके थे जजबात
भेद-भाव रहित निर्मल मन
करते अनुशासन का पालन
सबको ही देते सत्कार
उत्तम उनके थे विचार
अन्याय संग करी लडाई
देश को आजादी दिलाई
भारत माँ के सपूत महान
माँ के लिए सबकुछ कुर्बान
सौंप दिया था माँ को जीवन
क्या पावन था उनका मन


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

7 पाठकों का कहना है :

आलोक सिंह "साहिल" का कहना है कि -

neta ji ko mera naman.....
bahut hi sundar aur gyanvardhak kavita likhi aapne,nisandeh bacche isse achhi seekh lenge.
ALOK SINGH "SAHIL"

Nirmla Kapila का कहना है कि -

बच्चों को इन युग पुरषों से परिचित करवा कर आप एक महन कार्य कर रही हैं शाबाश धन्यवाद्

manu का कहना है कि -

नेताजी की कहानी बहुत अच्छे ढंग से कही है आपने...
धन्यवाद

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

इस महान देशभक्त से बच्चों का परिचय इस तरह से करवाना बहुत पसंद आया। जय हिन्द!!!

neelam का कहना है कि -

खून दो मुझको मै फरियादी
बदले मे दूंगा आजादी

सीमा जी आपकी जितनी तारीफ़ की जाय ,उतनी कम है ,सामयिक सामग्री उपलब्ध
करवा कर जो पुनीत कार्य आप कर रहीं हैं ,उसके लिए नमन है ,अपनी सहेली को |

roushan का कहना है कि -

नेता जी का व्यक्तित्व अनुकरणीय है इतनी सुंदर कविता के सहारे उसे रखने के लिए बधाई

अवनीश एस तिवारी का कहना है कि -

सुभाष बाबू , वास्तव में नेता थे |
इस माहान नायक को मेरा नमन |

अवनीश तिवारी

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)