Saturday, May 16, 2009

8 से80 साल के बच्चों तथा बूढे बच्चों के लिए मनोरंजन ही मनोरंजन

यानी की पहेलियाँ ही पहेलियाँ

१)उसके सिर को ठोंका जाय ,
आधी देह धरती में समाय |


२)दुनिया में सब देखते ,
सूर्य चन्द्र नहीदेख |
किस्मत ऐसी बन गई ,
कभी मिटे न लेख

३)नयन द्वार से रात में आती ,
न आऊं तो बदन थकाती|


४)नदी बहुत है पर नही पानी
दिखे नगर,पर दिखे न प्रानी
कालिख से ये बनी है काया ,
कागज़ पर स्थान है पाया |


५)सिर पर सोहे निर्मल जल ,
मुंडमाल गल माहि |
वाहन वाको बैल है ,
शिव कहिये कभी नाहि

थोड़ा सा दिमाग को स्थिर करिए और फिर इनके जवाबों को सोचिये ,सभी सही हल देने वाले को एक और पहेली बूझने का पुरूस्कार दिया जा सकता है |अधिक से अधिक संख्या में प्रतिभागियों के आने पर ही हमारा हौसला बढ़ता है ,पहेली में शायद कुछ संकेत की जरूरत न पड़े ,अगर पड़ेगी तो हम मदद करने के लिए तैयार हैं ,
शन्नो ,तुम कक्षा का ध्यान रखना ,चुनावी गिनतियाँ प्रारंभ हो गई हैं ,सबका ध्यान अगली सरकार की तरफ़ है,पर पहेली से ध्यान किसी का न हटे ये तुम्हारी जिम्मेदारी है , और जो प्रतिभागी अभी तक औन्धे (उल्टे )मुहँ पड़े हैं उनका भी हाल चाल ले ही लेना |
मिलते है सोमवार को पहेलियों के सही उत्तर और सबकी गतिविधियों को आपके सामने लेकर ,तब तक के लिए खुदा हाफ़िज








आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

29 पाठकों का कहना है :

shanno का कहना है कि -

नमस्ते मैडम नीलम जी,

मैनू जल्दी आना पड़ा कक्षा में जैसे ही आपने हांक (मेरा मतलब आपकी आवाज़ से है जी) लगाई.
आपने इन्नी सारी पहेलियाँ दे दी हैं और तुसी हो कि इन्ने सारे शैतान बच्चों को बुलाने को या नींद से उठाने को कह रहे हो. वह जो औंधे मुंह सोते हुए सपने देखता है ना जी वह तो टस से मस नहीं करता है लेकिन शायद पहेलियों का आगमन सूंघ कर झट से थोड़ी देर में उठ बैठे. इस बार सब ईमानदारी से उत्तर ढूंढ़ना सब लोग. कोई कुश्ती-उश्ती ना होनी चाहिए जी वर्ना फेर किसी की मम्मी अपने बच्चे की तरफ से शिकायत लेकर ना आ जाये. फेर हम आपको कहाँ-कहाँ ढूंढते फिरेंगे.
मैडम जी आपको एक झटका मेरा मतलब है कि सूचना देनी है कि मैनू भी छुट्टी मनाने जा रही है ३-४ दिन में और तब आप लोगों से कनेक्शन कट जाएगा २-३ महीने के लिए. सॉरी! मैडम जी, पर जाना ही पड़ रहा है. उस दौरान आप टोपी वाले को, सोने वाले को या सुमीत या इन्ने सारे किसी भी बच्चे को या फिर तुसी को डबल रोल प्ले करना होगा ही...ही....ही. टोपी वाला बन्दर मेरे हिस्से की पहेली-शहेली भी कर सकता है. लेकिन उससे कहना कि मेरे वाले उत्तर वह सही ही दे.
और साथिओं, तो मैं फिर आती हूँ. लेकिन इस पहेली के बाद आप सबसे मुलाक़ात करीब ७ हफ्ते बाद ही होगी. और हमारे परम-पूज्य गुरु जी जहाँ कहीं हों मैं उन्हें प्रणाम कहती हूँ.

तो फिर आओ सब लोंग यहाँ पर भी करो कुछ मस्ती
पहन के टोपी कमर को कसकर उठ कर देखो झट से
नयी पहेलियाँ फिर आई हैं उनसे फिर लड़ना है कुश्ती
खाओ-पीओ कुछ ठंडा गरमी में करो दिमागी कसरत
खेलो घर में, जू भी देखो और पिकनिक पर भी जाओ
पर हंसकर सबने पूरी करनी है नीलम जी की हसरत.

मुझे आप सभी साथिओं की बहुत याद आयेगी. पर समय मिलते ही फिर मिलूंगी. लेकिन इस पहेली के दौरान एक-आध बार फिर आप सबसे मिलती हूँ.

आपकी विनीत और शुभचिंतक
शन्नो (कक्षा-मानीटर)

pooja का कहना है कि -

नीलम जी,
आज आपकी पहेलियों के उत्तर ले कर हम यहाँ आ ही गये :) .

१. कील
२. शायद जन्म कुंडली या जन्म पत्रिका ???
३. नींद
४. स्याही
५. भगवन शंकर महादेव , गंगाधर

pooja का कहना है कि -

४. दुनिया का नक्शा ????

shanno का कहना है कि -

नीलम जी, आपकी पहेलिओं के उत्तर मेरी अपनी अकल के हिसाब से इस प्रकार हैं:

१. कील
२. हस्तरेखा
३. नींद
४. देश का नक्शा
५. शिवलिंग

वन्दना अवस्थी दुबे का कहना है कि -

1)कील
२)हाथ
३)नींद
४)स्याही
५)शिव जी

neelam का कहना है कि -

दोस्तों ,
पहेली संख्या १,२,और ५ अभी भी गलत हैं ,थोडा प्रयास करने पर हल मिल सकता है ,|
5 )पहेली में ही स्पष्ट लिखा है की उसका शिव जी से कोई लेना देना नहीं है ,वरन किसानों के उपयोग की वस्तु है |

स्वपनदर्शी का कहना है कि -

नमस्कार नीलम जी,
हमारे उत्तर इस प्रकार है:
१ खूंटा (खूंटी)
२ ............
३ निद्रा, नींद
४ देश- विदेश का नक्शा
५ ...............
२ और ५ उत्तर का जवाब कुछ और सोच कर बताने की कोशिश करेगे

manu का कहना है कि -

चलिए आज फिर पटकते हैं,,, स्वपनदर्शी जी को,,,,
पिछली बार भी एक ही जवाब से अपनी सरकार बन गयी थी,,,आज फिर लगाया जाए तुक्का,,

(५) रहंट,,,,,,,,,,,(बैलों के गले में जब घुँघरू जीवन का राग सुनाते हैं,,,,???)

neelam का कहना है कि -

2)पहेली के लिए इतना ही कह सकते हैं ,कि यह एक समय है |
5)इसे आपने मनोज कुमार कि फिल्मों में अवश्य देखा होगा ,एक गाने में तो इसका उल्लेख भी है ,वो गाना है मेरे देश कि धरती सोना उगले
|
स्वप्नदर्शी जी सुना है कि आप मंगल ग्रह से सीधे प्रथ्वी पर अवतरित होतें हैं , पहेलियाँ बताने के लिए क्या यह सच है ?

neelam का कहना है कि -
This comment has been removed by the author.
manu का कहना है कि -

पर ये अपनी मोनिटर जा कहा रही है ३-४ महीनो के लिए,,,,,,???????/
एक पहेली मेरी भी .............
ये तो बड़ी टेंशन वाली गल हैगी,,,,मतलब बात है,,,,,

manu का कहना है कि -

nilam ji,
ham pahle hi bataa chuke hain,,,

ab aur jyaada hint na dein,,,,

neelam का कहना है कि -

manu ji ,humaara comment aur aapke comment me ek min ka antar hai hum aapke uttar ko hint dene waale uttar se pahley hi lenge ,aap chinta n kare doosri paheli ka jawaab bhi de hi dijye to aapki hi monopoly hi ho jaayegi .

par pahli paheli ka jawaab to swapndarshi ji ne diya hai ,chaliye wo humaari jimmedaari hai aap uski tension n le aap paheli ke baare me sochiye .

manu का कहना है कि -

जी ,
ये तो मालूम ही के समय है ,,,
पर सवेरे शाम की कन्फ्यूजन है,,,

गोधूली............????????????????

shanno का कहना है कि -

क्या यह उत्तर सही हैं?
१. बीज
२. करम

manu का कहना है कि -

गलत,,,,,,,

shanno का कहना है कि -

एक और तुक्का:
२. ज्योतिष

rachana का कहना है कि -

१ खूंटा

३ नींद
४ नक्शा
५ रहट
यही समझ आया
रचना

neeti sagar का कहना है कि -

hello,दोस्तों कैसे है आप सब? ये क्या मोनिटर जी छुट्टी पर जा रही है,अब कक्षा में शोर.. मेरा मतलब कक्षा में शोर होने से कौन रोकेगा???? देखते है अगले मोनिटर जी क्या करते है, या करती है???फ़िलहाल में अपने जवाब कुछ नक़ल से कुछ अकल से लिख du फटाफट...१- खूंटा ...२-शायद भविष्य ...३-नींद ....४-शायद अक्षर ....५---रहंट (मनु जी का टीपा).....

स्वपनदर्शी का कहना है कि -

नीलम जी, हमारे उत्तर आपका संकेत मिलने के बाद इस प्रकार है:
१ खूंटा (खूंटी)
२ दिनांक, तारीख़ या इतिहास
३ नींद (निद्रा)
४ देश-विदेश का नक्शा
५ रहंट

manu का कहना है कि -

नहीं,
ये तो है के इनके जाने के बाद बड़ा मजा आयेगा,,, फुल मस्ती,,,
मगर ये जा कहा रहीं हैं,,,????
और इतने दिनों के लिए क्यूं,,,???
मन भी तो नहीं लगेगा न....?

shanno का कहना है कि -

सब कुछ सुन लिया है मैंने. अभी मैं यहीं हूँ, गयी नहीं हूँ. और आप लोगों ने अभी से ही बगावत करनी शुरू कर दी. अभी से ही प्लान बनाये जा रहे हैं. नीलम जी रूमाल लिए आँखें पूँछ रही होंगी सोचकर कि आप सबसे जल्दी ही पाला पड़ने वाला है और कैसे निपटेंगी वह आप लोगों से. आप लोग अपनी आजादी के पलों को जीने के सपने देखे जा रहे हैं. और मैं सोच रही हूँ कि अब स्वप्नदर्शी जी का दरवाज़ा कौन खटखटाएगा उन्हें जगाने के लिए. नीती और मनु की बातें सुनकर तो कान खड़े हो गये हैं और सुमीत को गाने की महफ़िल से पहेली की कक्षा में कौन खींच कर लायेगा, आदि-आदि बातें तंग करने लगी हैं. नीलम जी के कानों पर कोई जूँ नहीं रेंगती नज़र आ रही है. खैर जल्दी ही उन्हें अब आटे-दाल का भाव समझ में आ जायेगा जब आप लोगों की करामातें देखेंगी वह. GOOD LUCK!

मुझे पता है आप लोगों के मन में गुदगुदी हो रही है कि कब मैं जाऊं और कब आप लोग नीलम जी को तंग करें. ही..ही..ही..ही..(अब मज़ा आएगा अपनी नीलम मैडम जी को.)
संभल कर रहना सब लोग, और अपना ध्यान रखना.

टा..टा..

चलते-चलते कुछ कहना है साथिओं:

ना तो मैं अन्तरिक्ष पर जा रही
ना ही बसने मैं मंगलग्रह पर
जाना है जहाँ था बीता बचपन
प्यार की खुशबू से भरता था घर
जहाँ खेल-कूद कर बड़ी हुई थी
कितनी अन-गिन वहां हैं यादें
जिद और झगडों का हक भी था
सखी सहेली से भी थे कुछ वादे
भोले-भाले से लोग थे जीवन में
सपने भी देखे थे जहाँ अनगिन
वहां बहुत दिनों के बाद हूँ जाती
पल-पल कर अब गिनती हूँ दिन
एक सादा सा भोला बचपन बीता
वहां सब कुछ तो ना होगा वैसा
फिर भी इच्छा कुछ बलवान हुई
कि जाकर फिर देखूं क्या है कैसा
आशा करती हूँ कि मेरे जाने पर
कुछ ऐसा-वैसा ना करना मेन्शन
शैतानी कुछ कम ही करना ताकि
नीलम जी को अधिक न हो टेन्शन
नीती जी आप फुदक रही अभी से
खतरे की घंटी बजती सी लगती अब
मनु जी ना उदास हो अभी से इतना
कक्षा का ध्यान भी रखना जब-तब
रचना, नीती, तपन, पूजा, सुमीत
स्वप्नदर्शी, मनु, सीमा और चौहान
नीलम जी को ना कोई कभी रुलाना
आज्ञा सुनकर कक्षा का रखना मान
कूद-फांद कर, नक़ल टीपकर या फिर
किसी छात्रा की चोटी ना खींची जाये
धक्का - मुक्का ना करना आपस में
और न कोई chewing-gum चिपकाये.

ओ.के.

dschauhan का कहना है कि -

1- खूँटा
2- तक़दीर
3- नींद
4- अक्षर
5- रहँट

pooja का कहना है कि -

2. calender

manu का कहना है कि -

पर आपको इतनी लम्बी छुट्टियाँ दे किसने दीं ,,,,,?
कोई कायदा कानून है के नहीं,,,,,,,??????????????????????

neelam का कहना है कि -

शन्नो जी ,
अभी तक दूसरी पहेली का उत्तर नहीं मिला है शन्नो जी ,सबका ध्यान आपके जाने के बाद धींगा मस्ती करने के लिए खुश जो है ,शन्नो बेटा तुम ऐसे कैसे जा सकती हो तुम्हारा भी तो नुक्सान हो जाएगा पर जाना अगर इतना ही जरूरी है तो कोई बात नहीं ,हम manage कर लेंगे ,
रहिमन विपदा हूँ भली जो थोड़े दिन होय ,
हित अनहित या जगत में जानि परे सब कोई |
बाकी सब तो ठीक है ,पर अफ़सोस कोई भी पूरे जवाब नहीं दे पाया ,आपकी प्रतिक्रियाओं पर हम अपने विचार तो सोमवार को ही प्रेषित करेंगे
tab tak ke liye shubh raatri

shanno का कहना है कि -

नीलम जी,
क्या दूसरी पहेली का उत्तर '' नक्षत्र '' हो सकता है. अगर यह सही है तो फिर मेरे full marks.....???? नहीं तो फिर पहेलिओं के बारे में मेरे ही नक्षत्र खराब होंगे शायद.
आप सबको मैं भी बहुत miss करूंगी. हाँ, कक्षा को संभालना विपदा ही होगी शायद आप के लिए पर आपको दांत किलस कर सब सहना ही होगा. मजबूरी का नाम महात्मा गाँधी.....करने दीजिये सबको धींगा-मस्ती. वापस आने पर एक-एक से उगलवा लूंगी सब कुछ. कि क्या-क्या हुआ मेरे पीछे. मनु जी को जासूसी के लिए तैनात कर दीजिये. इन दिनों मैं जरा जाने की तैयारी में जुटी हुई हूँ. अच्छा तो अब आप अपनी झपकी लीजिये.

शुभ रात्रि

shanno का कहना है कि -

मनु जी,

अच्छा लगा जानकर कि कुछ लोग मुझे याद भी करेंगे. हाँ कुछ जरूरी कारणों से कुछ महीनों तक (शायद तीन) फुर्सत ना मिल पाये. एक के बाद एक commitments आ रहे हैं. फिर उसके बाद सबके संग फिर मस्ती पहेलिओं की कक्षा में वापस लौट कर. वैसे आप क्यों नहीं मानीटरी का जायका लेते जब तक? कक्षा में तो शायद .....''अंधेर नगरी और चौपट राजा'' वाला खेल शुरू हो जायेगा ...ही...ही...( नहीं, नहीं मैं तो बस मजाक कर रही थी). अरे इसी चक्कर में तो नीलम जी ने मुझे इजाज़त दे दी. पहेलिओं की नगरी में कुछ भी हो सकता है...
लेकिन एक बात जरूर serious है कि मैं अब आप सबकी आदी हो गयी हूँ और सबको बहुत ही miss करूंगी. मनु जी, आप उदास ना हों. अपना मन अब कक्षा की जासूसी में लगाइये और जब मैं आऊँ तो फुल रिपोर्ट दीजिये मुझे पूरी ईमानदारी से. तब तक स्वप्न दर्शी जी की alarm clock में भी time set कर दीजिये. हर पहेली के बाद उनकी आदत है एक झपकी लेने की. उससे उनके दिमाग की बैटरी चार्ज होती रहती है. और सुमीत को भी कहीं से पकड़ कर लाना होगा. मुझे आशा है कि पहेलियाँ सुलझाने में आप सब लोग बहुत समझदार, लगन और तीव्र बुद्धि वाले छात्र हैं. मेरा मतलब है कि किसी न किसी तरह उन्हें सुलझाकर ही दम लेते हैं......by hook or by crook. (हा..हा). अच्छा तो अब ऐसा लग रहा है कि आपको भी जम कर जम्हाइयां आ रही हैं तो फिर....शुभ रात्रि.

manu का कहना है कि -

namber 2.........

ghadi...?????/

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)