Tuesday, January 8, 2008

चन्दा बनना चाहे चुनमुन



चन्दा देखे धरती पे
धरती पे लाखों चुनमुन हैं
चुनमुन प्यारे प्यारे हैं
सारे जग से न्यारे हैं

एक दिन चाँद के मन में आयी
उसने माँ को बात सुनायी

सर्दी के दिन आऐ रे
मुझको ठँड सताऐ रे
सन सन करके पवन चले है
ठिठुर ठिठुर कर रात कटे है
मुझको ऊनी ड्रेस मँगा दे
सुंदर सी एक कैप लगा दे
नन्हे नन्हे मौजे ला दे
काले काले बूट मँगा दे

चन्दा की सुन बात रे
माता सोच के बोली रे

घटता बढता रोज तू
और कभी ना दिखता तू
कौन नाप की ड्रेस मँगायें
ये ना मेरी समझ में आये

किस उलझन में उलझा आजा
तू है नील गगन का राजा
मेरे प्यारे लाल लाडले
तेरा यूँ ही रूप सलोना
मेरी लाख दुआएँ तुझको
लगे कभी ना जादू टोना
तेरा रुप लुभाता है
तू मामा कहलाता है

- सुषमा गर्ग
08.01.08


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

8 पाठकों का कहना है :

sahil का कहना है कि -

सुषमा जी बहुत ही प्यारी कविता विशेषकर ये पंक्तियाँ-
सर्दी के दिन आऐ रे
मुझको ठँड सताऐ रे
सन सन करके पवन चले है
ठिठुर ठिठुर कर रात कटे है
मुझको ऊनी ड्रेस मँगा दे
सुंदर सी एक कैप लगा दे
नन्हे नन्हे मौजे ला दे
काले काले बूट मँगा दे
निश्चित तौर पर इसे बच्चों का प्यार मिलेगा
शुभकामनाओं सहित
आलोक सिंह "साहिल"

Alpana Verma का कहना है कि -

वाह !वाह ! सुषमा जी क्या कल्पना की है!!!!
--चन्दा के भोले से मन की भोली ख्वाहीश!
आप की प्यारी सी कविता मुस्कराहटें बिखेर गयी.

राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि -

बहुत सुन्दर रचना है, बच्चों को बहलाने का या कि लोरी का बेहरतीन उदाहरण...

*** राजीव रंजन प्रसाद

रंजू का कहना है कि -

सुंदर कविता ...है यह आपकी

tanha kavi का कहना है कि -

चाँद और चुनमुन की कहानी कविता के माध्यम से बड़ी हीं खूबसूरत बन पड़ी है। बच्चों को ऎसे हीं बहलाती, फुसलाती एवं मनाती रहें, ताकि ऎसी रचनाएँ हमें पढने को मिलती रहें।

-विश्व दीपक 'तन्हा'

Sushma Garg का कहना है कि -

मित्रों,
उत्साहवर्धक टिप्पणियों के लिए आप सभी का बहुत धन्यवाद.

रचना सागर का कहना है कि -

सुषमा जी

सचमुच बहुत अच्छी कविता।

भाव बहुत ही पसंद आये।

tarushree का कहना है कि -

सुषमा जी,
चंदा बनना चाहे चुनचुन, कविता बहुत अच्छी लगी। बहुत दिनों बाद आपकी पोस्ट पर अच्छी बाल कविताएं पढ़ने को मिलीं। मैं जयपुर से एक बाल पत्रिका का सम्पादन कायॆ देख रही हूं, अगर आपकी रचनाओं का इसमें सहयोग मिलेगा तो पाठकों और मुझे बेहद खुशी होगी। कृपया जवाब दें।
धन्यवाद

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)