Tuesday, January 22, 2008

तितली रानी



तितली रानी तितली रानी
रँग बिरँगे पँखों वाली
करती तुम हरदम मनमानी
तितली रानी तितली रानी


कली कली पर तुम मँडराती
फूल फूल को तुम सहलाती
आओ एक पल पास हमारे
तितली रानी तितली रानी


दादी कहती नानी कहती
एक कहानी तितली रानी
मनभावन ये पँख तुम्हारे
तुम हो परियों की शहजादी
तितली रानी तितली रानी


तुम मेरी साथी बन जाओ
आओ तुमको सैर कराऊँ
मामा के घर तुम्हे घुमाऊँ
दूध मलाई तुम्हे खिलाऊँ
तितली रानी तितली रानी


जन्तर मन्तर, गुडिया घर ले जाऊँ
अप्पू घर की सैर कराऊँ
मेट्रो रेल में तुम्हे बिठाऊँ
इन्डिया गेट की कथा सुनाऊँ
तितली रानी तितली रानी


बात मेरी तुम मानो एक
रँग बिरंगे पँखों वाली
स्कर्ट मेरी तुम लाना एक
पहन तुम्हारे सँग चलूँगी
परी देश की सैर करूँगी
तितली रानी तितली रानी


चँदा से मुझको मिलवाना
अपने देश का हाल बताना
चँदा के मैं सँग खेलूँगी
मन की इच्छा पूरी करूँगी
तितली रानी तितली रानी


अच्छा तितली करती हूँ अब टाटा
भूल ना जाना अपना वादा
अब मुझको है अपने घर जाना
कब आओगी बतलाती जाना
तितली रानी तितली रानी
- सुषमा गर्ग
22.01.08


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

7 पाठकों का कहना है :

रंजू का कहना है कि -

तितली रानी की सुंदर कहानी
सुषमा जी लगी बहुत सुहानी !!

sahil का कहना है कि -

सुषमा जी तितली रानी बहुत ही प्यारी कविता है. बधाई हो
आलोक सिंह "साहिल"

Alpana Verma का कहना है कि -

तितलियों जैसी रंग बिरंगी और प्यारी है आप की कविता सुषमा जी .

Bhupendra Raghav का कहना है कि -

प्यारी सी बाल-कविता..
बच्चे बहुत खुश होंगे पढ़कर..

seema gupta का कहना है कि -

तितली रानी तितली रानी
रँग बिरँगे पँखों वाली
करती तुम हरदम मनमानी
तितली रानी तितली रानी
बहुत ही प्यारी कविता है.
Regards

रचना सागर का कहना है कि -

सुषमा जी, बहुत सुंदर कहानी

बधाई

kavi kulwant का कहना है कि -

सुशमा जी बहुत ही मनमोअहक लगी आपकी तितली रानी.. बधाई..

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)