Sunday, October 28, 2007

चीटियों की दुनिया


बच्चों आप सबने अपने घरों में चीटियाँ जरूर देखी होंगी, छोटी, बड़ी, काली, लाल. चलिए रोचक जानकारियों के इस अंक में आज सारथी अंकल आपको बताएँगे, इन्ही नन्ही नन्ही चीटियों की कुछ और मजेदार बातें।
चीटियों का भी अपना एक साम्राज्य होता है, राजे और रानियाँ होती है, ढेर सारे गुलाम होते हैं, जिनके सुपुर्द अनेकों काम होते हैं, सेनाएं होती है, जिनमे सामर्थ होता है बड़े से बड़े दुश्मन को दांतों चने चबाने का, हैं न मजेदार बात.



करीब २ हज़ार से भी अधिक प्रजातियाँ इनमे पायी जाती हैं, सबसे बड़े (करीब ३ इंच की ) चीटियाँ मिलती हैं अफ्रीका में, चीटियाँ अक्सर छोटे बड़े समुदायों में बंट कर रहती हैं, जो लगभग पूरी दुनिया में पायी जाती हैं, हर समुदाय के पास अपनी-अपनी फौज होती है, कल्पना कीजिये, एक समुदाय की फौज दूसरे समुदाय की फौज से लड़ रही है, जीतने वाली फौज के सिपाही पराजित सिपाहियों के समुदाय को उनके बिलों से बाहर खदेड़ देते हैं, यहाँ तक की उनके अण्डों पर भी कब्जा जमा लेते हैं, बाद में उन अण्डों से जो चीटियाँ निकलती हैं उन्हें ये अपना गुलाम बना लेते हैं. बहुत बुरा करते हैं... हैं न बच्चों.

करोड़ों चीटियाँ ( एक प्रजाति की ) किसी साम्राज्य मे एक राजा के छत्रछाया में गुजारा कर लेती हैं, राजा प्रशासन का काम देखता है और रानी मजदूरों और गुलामों से काम करवाती है, कुछ कृषक चीटियाँ भी होती है जो सब के लिए दूर दूर जाकर भोजन का प्रबंध करती है.

कुछ चीटियाँ मांसाहारी भी होती है, जो अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका और दक्षिण एशिया के कुछ हिस्सों मे पायी जाती हैं, ये करोड़ों की संख्या में अपने शिकार के लिए निकलती हैं, और अगर कोई शिकार मिल जाए तो उससे चिपट जाती हैं और उसे पूरा का पूरा चट कर जाती हैं.... हैं न खतरनाक भी, ये चीटियाँ.

तो बच्चों कैसा लगा चीटियों की इस दुनिया के बारे में जानकर, सारथी अंकल फ़िर मिलेंगे एक नयी जानकारी के साथ, तब तक अपना ख्याल रखें, जल्द मुलाकात होगी


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

9 पाठकों का कहना है :

राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि -

सजीव जी,

चींटियों का साम्राज्य सजीव कर दिया आपनें। जानकारी बहुत रोचकता से दी गयी है साथ ही चित्र इस जानकारी में वृद्धि कर रहे हैं।

आपकी अगली प्रस्तुति की अभी से प्रतीक्षा है।

*** राजीव रंजन प्रसाद

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

बहुत बढ़िया लगी। २-४ चीटियों के बारे थोड़ा और बताना चाहिए था।

विश्व दीपक का कहना है कि -

सजीव जी,
रोचक जानकारी और सुंदर प्रस्तुतीकरण। बधाई स्वीकारें।

-V.D.

भूपेन्द्र राघव । Bhupendra Raghav का कहना है कि -

चींटियों के सम्राज्य के बारे में बहुत अच्छी जानकारी दी आपने..
एकता की शक्ति का बहुत बडा उदाहरण हैं चीटियां
कहते हैं एक चींटी अपने से कई गुना भार ले जाने की सामर्थ रखती है..

रोचक जानकारी के लिये बधाई स्वीकार करें

Udan Tashtari का कहना है कि -

रोचक जानकारी.

Dr. Zakir Ali Rajnish का कहना है कि -

सजीव जी, आपने चीटियों के बारे में बहुत ही रोचक और ज्ञानवर्द्धन सामग्री जुटाई है। बधाई।

शोभा का कहना है कि -

सजीव जी
बहुत अच्छे । चीटियों के विषय में इतनी जानकारी देने के लिए धन्यवाद ।

रंजू भाटिया का कहना है कि -

सजीव जी,रोचक जानकारी यह तो हमेशा ही ज़िंदगी का प्रेरणा स्रोत रही है .अच्छा लगा इन के बारे में जानना

Unknown का कहना है कि -

आभार सजीव जी, इस रोचक जानकारी के लिये!

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)