Monday, October 15, 2007

आओ बच्चो हम चित्र बनाना सीखें

बच्चो पिछली तीन कडियों में हमने क्रमश: चिडिया, बिल्ली और मोर का चित्र बनाना सीखा. इस बार हम तितली का चित्र बनायेंगे. तितली किस को अच्छी नहीं लगती...सब बच्चों को रंगबिरंगी तितली सुन्दर लगती है और इसे पकडना चाहते हैं. परन्तु नटखट तितली को पकडना आसान नहीं है. य़ह फ़ूलों पर मंडराती है और उनका रस ही इसका भोजन है.

तितली का चित्र बनाने के लिये सबसे पहले एक गोला बनायें...जिससे उसका सिर बनेगा और एक लम्बे बेलन आकार से उसका धड (शरीर) बनेगा... जैसा चित्र में नीचे देखाया गया है.



धड को अलग अलग हिस्सों में बांटने के लिये हमें कुछ रेखायें खीचनी होंगी जैसा कि नीचे चित्र में देखाया गया है.




इसके बाद नीचे चित्रानुसार हम तितली के एन्टीना और आंखों का आकार बनायेंगे.



अब बाकी रह गया है तितली के पंखों का चित्रण... जिसे हम अपनी कल्पना शक्ति से विभिन्न आकार दे सकते हैं जैसा की सबसे अन्त में तितली के कुछ चित्रों में दर्शाया गया है. यहां आसानी के लिये साधारण पंखों का चित्रण किया गया है.



अब रह गया रगं भरना... आप सब ने तरह तरह की तितलियां तो देखी ही हैं बस रंग उठाईये और चित्र पूरा कीजिये.



आप की सुविधा के लिये मैं सुन्दर सुन्दर तितलियों के कुछ चित्र भी दे रहा हूं...







आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

9 पाठकों का कहना है :

राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि -

मोहिन्दर जी,

इस स्तंभ की जितनी तारीफ की जाये कम है। तितली बनाने का इतना आसान तरीका सोचा भी नहीं जा सकता। संलग्न चित्र भी बहुत सुन्दर हैं। यह बच्चों को रंग भरने की कल्पनाशक्ति प्रदान करेंगे।

*** राजीव रंजन प्रसाद

Bhupendra Raghav का कहना है कि -

सुन्दर तरीका सुन्दर रंग बिरंगी तितली बनाने का, बच्चों को सचमुच पसन्द आयेगा.. रात मैं बच्चों के लिये तितली पर ही एक कविता लिख रहा था सुबह आकर देखा तो आपने मेरी कविता को चित्रों के माध्यम से पहले से ही बच्चों तक पहुँचाया हुआ है..

- बधाई मोहिन्दर जी,

रंजू का कहना है कि -

कभी उड़ते हम तितली बन के
कभी बदल बन उड़ जाते
उँचे उड़ कर हम भी
चंदा मामा को छू आते:)
यह कविता सबसे पहले बाल उद्यान पर पोस्ट की थी :) चित्र आज मिला इस को :)
बहुत ही सुंदर तरीका चित्र बनाने का मोहिंदर जी
रंग बिरंगी तितली किसे अच्छी नही लगती बच्चों के साथ बड़े भी इसको खूब मज़े से बनायेंगे !!

रचना सागर का कहना है कि -

मोहिन्दर जी,
सही बात है कि आपके इस स्तंभ बहुत अच्छी है...
हमें कितनी आसानी से चित्र बनाना सीखा देते है...
धन्यवाद

Udan Tashtari का कहना है कि -

क्या बात है. अति उत्तम. बहुत बढ़िया कार्य कर रहे हैं जो इतनी सरलता से चित्रकारी सिखा रहे हैं. वाह!!!

tanha kavi का कहना है कि -

मोहिन्दर जी,
मैं आज तक तितली नहीं बना पाया था। आज आपसे सीखा। अब निश्चिंत होकर तितली बनाने के काम में जुट जाता हूँ। निस्संदेह सफलता मिलेगी :)

-विश्व दीपक 'तन्हा'

Gita pandit का कहना है कि -

मोहिन्दर जी,


सुन्दर चित्रों के माध्यम से
तितली बनाने का
सुन्दर, आसान तरीका.....


अति उत्तम

shobha का कहना है कि -

मोहिन्दर जी
तितली बनाना सीख लिया मैने भी । अब इस पर एक कविता भी लिख दीज़िए इस पर । सस्नेह

Poonam Agrawal का कहना है कि -

Mohinderji,titliyan mujhe bachpan se lubhatee aayin hai.Main bhee ek bahut choti see artist hun.Itnee asanee se titlee banana aaj apse seekh liya.Ab titliyon ke rang se sajegee painting meri.Dhanyavaad....

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)